Yoast seo से 100% green post कैसे लिखें-2020

Published by Deependra Kashyap on

yoast seo se green post kaise likhen

आज के इस पोस्ट में हम सिर्फ Yoast SEO के सहायता से 100% greeen पोस्ट कैसे लिख सकते है और आपको क्या क्या setting और सुधार करना पड़ेगा इस पोस्ट में जानेंगे, आप yoast seo  और जिनको सिर्फ English language में ही यूज कर सकते हैं लेकिन हमारे देश में ज्यादातर ब्लॉगर हिंदी भाषा को आसानी से समझते और पढ़ सकते हैं तो उनके लिए इंग्लिश में लिखे हुए लैंग्वेज को समझने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है|

तो इस पोस्ट में हमने yoast seo  के सभी टॉपिक को  जो  आपके पोस्ट को seo friendly  बनाने में Helpful हो सभी को हमने हिंदी भाषा में आपको सरल तरीके से समझाया है,  आप इस पोस्ट में yoast seo  को install  करना Activate करना उनके सभी सेटिंग के बारे में और  एक पोस्ट को seo friendly  बनाने में  जरूरी सभी पॉइंट के बारे में जानेंगे| 

यह भी पढ़े- rank math plug-in के द्वारा 100 % green पोस्ट कैसे लिखे|

Yoast SEO क्या है- 

yoast seo wordpress user के लिए आधारित एक plugin है और इस plugin के सहायता से आप अपने पोस्ट, pages, articals का अच्छे से seo ऑप्टिमाइज़ कर सकते है मतलब आप जिस भी keyword को अपने पोस्ट में रैंक कराना चाहते है उससे सम्बंधित On Page SEO कर सकते है|

और yoast seo On Page  SEO में आने वाले समस्या के बारे में बताता है जिसे आप सुधार कर आसानी से ठीक कर सकते है |

Yoast SEO में Green Signal क्या होता है-

जब हम wordpress में कोई भी पोस्ट लिखते है और और हमारे wordpress में yoast seo active रहता है तो पोस्ट के सबसे निचे yoast seo की मदद से हमारे आर्टिकल का seo score अलग अलग point के आधार पर दर्शाया जाता है जिसमे red, orange, और green signal दिखाई देता है, अगर आपका कोई point red या orange color के अंतर्गत है तो उसमे सुधार की आवश्यकता है और अगर green है तो वह आपके seo के लिए अच्छा है|

yoast seo plugin green पोस्ट कसी लिखें

Yoast plugin install और Activate कैसे करें-

सबसे पहले आप plugin में जाकर yoast seo plugin लिखकर search करें,

इस plugin को इनस्टॉल करें और फिर इसे Activate करें|

Capture

Yoast seo के जरुरी settings-

General

सबसे पहले आप General पर click करें और आपको अलग अलग ऑप्शन दिखाई देंगे-

dashboard

अब आपको यहाँ पर first time SEO configuration का ऑप्शन दिखाई देगा आप इसे default ही रहने दें 

और निचे problem और notification में आपको seo से सम्बंधित जानकारी और समस्याओं का आपको notification मिल जाएगा |

yoast seo genral dashboard

features 

अब आपको features वाले ऑप्शन पर click करना है आपको वे सभी features मिल जायेंगे जो yoast seo आपको प्रदान करता है |

आप इनमे changes कर सकते है |

yoast seo features

webmaster tool

अब आप webmaster tool के ऑप्शन पर click करे, 

Webmaster tool का काम यह है की जब आप first time अपने website को Google search console में add करते है तो आप google search console से प्राप्त code को यहाँ पर पेस्ट करके save कर दें और search console में जाकर verify पर click कर दें जिससे आपका website कुछ ही समय में google में add हो जायेगा| इसके अलावा आप Bing, Yahoo आदि प्लेटफार्म पर भी आप add कर सकते है|

योअस्र seo webmaster tool

Search appearance

आपको यहाँ पर कई importance settings मिल जायेंगे-

1.General– 

Title seprator आपको यहाँ पर कई तरह के symbol मिलेंगे आप जिस भी symbol को अपने title में यूज़ करना चाहते है select कर लें और फिर वह आटोमेटिक आपके title में दिखाई देगा |

Homepage 

 seo title आप यहाँ पर अपने हर पोस्ट के लिए title add कर सकते है जिसमे आप अपने website का नाम या कोई main keyword को add कर सकते है जो आपके सभी पोस्ट में automatic add हो जाए| 

meta description में आप discription add कर सकते है| add करने के लिए आपको insert snippet variable के ऑप्शन पर click करें |

knowledge graph & schema.org- यहाँ पर यदि आप कोई organization(संस्थान)  चलाते है तो आप निचे उसका नाम और image add करें या आप स्वयं काम करते है तो आप अपना details दें |

2.containt type-  यहाँ पर आपको जितने भी settings है वे सभी आपके पोस्ट पर ही apply होंगे |

settings for single post url 

Show post in search result 

अगर आप अपने पोस्ट को google में दिखाना चाहते है तो आप Yes रहने दें |

Date in google preview 

आपने पोस्ट कब पब्लिश किया मतलब आप समय दिखाना चाहते है तो show रहने दे अगर date नहीं दिखाना चाहते है तो आप hide कर दें |

yoast seo meta box 

इसे आप अपने हिसाब से show या hide कर सकते है |

seo title & meta description 

आप अपने पोस्ट के title में और meta description में क्या क्या show करना चाहते है इसके लिए आप insert sneepet variable पर click कर के select कर लें | और निचे save के ऑप्शन पर click कर दें |

containt type yoast seo

इसी तरह आप pages के ऑप्शन पर click करके page का सभी settings कर सकते है |

  1. Media

media & attachment urls 

अगर आप हमेशा media file को जैसे फोटो, विडियो,gif को index करना चाहते है तो आप इसे yes ही रहने दे |

  1. Taxonomies

category आप अपने category को search इंजन में show करना चाहते है तो आप yes ही रहने दें |

seo title & meta descriptionआप अपने category के लिए seo title और description select कर सकते है |

Tag- आप tag show करना चाहते है या नहीं आप अपने हिसाव से select कर लें |

category url- इसे भी आप अपने हिसाव से रख सकते है |

  1. Archive settings  

Author archives (लेखक )

show author archives search result 

show archives for author without post in search result 

नोट- इन सभी settings को आप enable या disable कर सकते है यह settings ज्यादा इम्पोर्टेंस नहीं होते है |

  1. Breadcrumbs 

अगर आप new blogger है तो आप इसे  disable करके ही रखे |

  1. RSS-

 इसका काम किसी के containt को बिना लिखे अपने ब्लॉग के show करने के लिए किया जाता है, अगर आप खुद के मेहनत से blogging करना चाहते है तो आप इसे कुछ ना करें |

Yoast seo में किसी  पोस्ट को seo friendly कैसे बनाएं या yoast seo से green पोस्ट कैसे लिखें

जब आप Yoast seo को install कर के एक्टिव कर लेते हैं फिर आप पोस्ट लिखते हैं तो  आपको अपने पोस्ट और पेज को seo friendly बनाने के लिए आपको तीन ऑप्शन मिलते हैं|

  1. SEO–  यह आपके पोस्ट को search engine optimization में add करने में मदद करता है
  2. Readability– इसमें आपके article का स्कोर दिखाया जाता है कि आपने अपने article को किस तरह ऑप्टिमाइज किया है|और आपको अपने artical में क्या-क्या इंप्रूवमेंट करना चाहिए वह सभी आपको  दिखाई देते हैं जिन्हें आप सुधार कर सकते हैं|
  3. Social–  इसमें आप सीधे अपने पोस्ट को अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ऑटोमेटिक शेयर कर सकते हैं

 यहां पर हम सभी सेक्शन में आने वाले प्रॉब्लम को आप कैसे सुधार कर सकते हैं वह देखेंगे-

1.SEO- 

Focus keyphrase-  जिसकी keyword पर आपका पोस्ट rank कराना चाहते हैं वही Focus keyphrase  होता है|

अगर आप yoast seo  का प्रीमियम वर्जन यूज करते हैं तो आप यहां पर ज्यादा से ज्यादा 5 Focus keyphrase भर सकते हैं अगर आप फ्री वर्जन यूज करते हैं तो आप सिर्फ एक Focus keyphrase  भर सकते हैं|

Google preview-  यहां पर आपको मोबाइल रिजल्ट और  डेस्कटॉप रिजल्ट दोनों दिखाई देंगे,  आप नीचे में edit snippet के ऑप्शन पर क्लिक करके seo title  में अपने पोस्ट का टाइटल, slug  में अपने पोस्ट का url,  और meta description  में  अपने पोस्ट का  जानकारी लिखें| फिर आपको उसी के हिसाब से red, Orange और green color आपके ऑप्टिमाइजेशन के आधार पर दर्शाता है|

Seo section  में आने वाले प्रॉब्लम और उनके सुझाव- seo analysis के ऑप्शन पर क्लिक करें|

Internal links- आप अपने ही किसी दूसरे पोस्ट या पेज का लिंक add कर सकते हैं जिससे कोई भी व्यक्ति उस पर क्लिक करके आपके दूसरे पेज या पोस्ट पर चला जाए|

Keyphrase in introduction-  आपके पोस्ट के introduction में आपका main keyword होना चाहिए|

Keyphrase density- आप अपने पोस्ट में कीवर्ड डेंसिटी(मात्रा) का ध्यान रखें आप मिनिमम 1  से 3%  तक मेन की वर्ड का प्रयोग करें|  मान लीजिए आपका पोस्ट 100 words का है  तो आप कम से कम दो जगह अपने मैन की वर्ड का प्रयोग करें| 

Keyphrase in meta description-  अपने main keyword को मेटा डिस्क्रिप्शन में जरूर add करें|

Keyphrase in subheading-  आप कम से कम एक subheading में अपने main keyword को प्रयोग करें

Images alt attribute-  अपने इमेज के alt attribute  में अपने main keyword का नाम जरूर ऐड करें

Seo title width- अपने टाइटल में 50 से 60 वर्ड का प्रयोग करें|

Outbound links-  आप किसी अन्य के website के पेज या पोस्ट का लिंक ऐड कर सकते हैं| 

Text length- आप अपने पोस्ट में कम से कम 600  words का जरूर  प्रयोग करें|

Keyphrase length-  अपने keyword की लंबाई तीन से पांच ही रखें|

Meta description links-  आप अपने मेटा डिस्क्रिप्शन में internal  या outbound link लिंक add करें

Previously used keyphrase-  आप अपने पोस्ट के बीच बीच में अपने पुराने पोस्ट का main keyword का भी प्रयोग करें|

Text length- उसके बाद green color दिखाई दे उतना ही रखें|

 

  1. Readability- इसमें हम इस सेक्शन के सभी समस्याओं के बारे में जानेंगे-

Subheading distributions- 1 section of your text is longer than 300 word and is not separate by any subheading.Add subheading to improve readability.

मतलब-  आपके किसी एक सेक्शन में 300 वर्ड से ज्यादा है और आपने उसे subheading नहीं बनाया है तो आप उसे subheading बनाएं फिर यह समस्या ऑटोमेटिक  दूर हो जाएगा|

Sentence length- 27.1% of the sentence content more than 20 words. Witch is more than the recommended maximum of 25%. Try to shorten sentence

मतलब- आपके  पोस्ट में 27% कंटेंट ऐसे हैं जिनका  वर्ड 20 वर्ड से ज्यादा है आप उन्हें 25% से कम करें|

Flesch reading face- आप अपने लिखने की टेक्निक को जितना ज्यादा परसेंट बेहतर रखेंगे आपके लिए फायदा है|

Consecutive sentence-  जैसे आपने किसी पैराग्राफ को the  शब्द से ही स्टार्ट किया है तो आप  अन्य पैराग्राफ को the  शब्द से ही स्टार्ट न करें नहीं तो आपको प्रॉब्लम आ सकता है| आपकी आईडी बता

Passive voice- आप passive voice  का प्रयोग कम करें, जैसे- used को use  लिखें, filtered  को filter  लिखें|

Subheading distribution- आप अलग-अलग  सब हेडिंग बनाएं, आपके पोस्ट के लिए बेहतर रहेगा|

Paragraph length-  पैराग्राफ लेंथ हमेशा छोटा रखें

Transition words- संक्रमण शब्द का प्रयोग करें जैसे-  आपको,  लेकिन,  किंतु, परंतु, के लिए, आवश्यकता अनुसार, महत्वपूर्ण आदि है|

  1. Documents- 

  Add new tag –  इस पर क्लिक करके आप अपने पोस्ट के लिए 5 से 10 तक यूज कर सकते हैं|

Featured images-  आप अपने  blog के लिए कम से कम एक featured images set करके जरूर रखें, जो thumbnail के रूप में आपकी पोस्ट के ऊपर दिखाई देगा|

(नोट)-  1.आप अपने पोस्ट  में  इंर्पोटेंट वर्ड को  bold, italic, underline करते रहे और आप उसमें लिंक भी ऐड कर सकते हैं|

2.अगर आपके पोस्ट को बार-बार ऑप्टिमाइजेशन करने के बाद भी कोई टॉपिक ग्रीन नहीं हो रहा है तो कोई दिक्कत नहीं है, इससे भी आपका पोस्ट रैंक हो सकता है|

दोस्तोंआपको yoast seo से green पोस्ट कैसे लिखें यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो और आपके लिए helpful साबित हुआ है तो आप इसे अपने दोस्तों अपने रिलेशन के साथ जरूर शेयर करें और साथ ही साथ आपका हमारे blog www.workhindi.com पर पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!!! 

आप निचे दिए गये किसी भी इम्पोर्टेंस लिंक पर click करके हमारे अन्य पोस्ट पढ़ सकते है-

ATM card, DEBIT card, और CREDIT card कैसे पहचाने

important websites in 2020


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *