डोमेन नाम क्या होता है(what is domain name meaning in hindi)

Published by Deependra Kashyap on

डोमेन नाम क्या होता है 2020

डोमेन नाम क्या होता है? Domain name meaning in hindi

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे की डोमेन नाम क्या होता है,(domain name meaning in hindi) डोमेन नाम क्या काम आता है और साथ ही साथ डोमेन से रिलेटेड सभी जानकारी हम हिंदी में जानेंगे।आप सभी टॉपिक को टेबल में भी देख सकते है। और आप जिस टॉपिक के बारे में जानना चाहते है उस पर click करके आप उसी टॉपिक को पढ़ सकते है।

domain name meaning in hindi

Domain name means in Hindi-

 डोमेन नाम को शार्टकट में DNS कहते है और DNS का पूरा नाम Domain Name Service होता है| 

शॉर्टकट में कहे तो-डोमेन वेबसाइट या ब्लॉग के नाम को कहते है ।

आप इन्टरनेट पर domain name search करके किसी भी तरह के जानकारी जैसे-website आदि को आसानी से ढूंढ सकते है। अर्थात domain name में ही किसी वेब page या वेब सर्वर के पता के रूप में  होता है।

 

पुराने समय में डोमेन नाम न होकर सिर्फ IP Address हुआ करता था उदाहरण(192.63.28.92) आदि।

Domain name किसी website या ब्लॉग के पहचान के लिए एक नाम होता है| अर्थात जैसे मेरे वेबसाइट का नाम workhindi.com है इसे ही हम वेब एड्रेस कहते हैं| और यही वेबसाइट का डोमेन नाम होता है। जिस सिस्टम से डोमेन नाम को ऑपरेट किया जाता है उसे डोमेन नाम सिस्टम कहते हैं|यहीं पर आपके सारी जानकारी स्टोर रहता है जैसे- IP Address, post, pages,information आदि।

लेकिन यह लोगों को याद रखने में दिक्कत होती थी और ज्यादा से ज्यादा 8-10 IP Address को ही याद रख सकते थे।इसलिए डोमेन नाम का निर्माण हुआ।

 

ध्यान देने वाली बात- आपके द्वारा खरीदे गए डोमेन नाम को दुनिया में और कोई नहीं खरीद सकता|

जैसे मेरे वेबसाइट का नाम-workhindi.com है, तो इस नाम को कोई और नहीं खरीद सकता है जब तक मैं ना चाहूँ या फिर domain name expire ना हो जाए।  लेकिन इस डोमेन नाम से जुड़े अलग एक्सटेंशन खरीद सकता है जैसे-.Co, .in, .info आदि।

डोमेन नाम की आवश्यकता क्यों होती है और यह कार्य कैसे करता है-

इंटरनेट पर अपने ब्लॉग या वेबसाइट की पहचान बनाने के लिए डोमेन नाम की आवश्यकता होती है।

सभी वेबसाइट और इंटरनेट से जुड़े सभी source का IP Address होता है क्योंकि कंप्यूटर डोमेन नाम को नहीं पढ़ सकता है वह IP Address के माध्यम से ही user को सही डोमेन नाम तक पहुचता है। 

अर्थात जब कोई यूजर इंटरनेट पर कोई डोमेन नाम सर्च करता है तो वह IP Address में convert हो जाता है और वह नाम सर्वर को भेजता है और फिर नाम सर्वर उस IP Address से जुड़े सभी जानकारी reader को दिखाता है।

डोमेन के प्रकार( types of domain)-

डोमेन के बहुत सारे प्रकार है लेकिन इस पोस्ट में हम आपको जो आपके लिए इंपोर्टेंट है उन्ही प्रकार के बारे में बात करेंगे।

  1. TLD(Top Level Domains)- यह इंटरनेट डोमेन नाम प्रणाली में सबसे उच्च स्तरीय का डोमेन होता है, और इसे इंटरनेट डोमेन एक्सटेंशन के नाम से भी जाना जाता है और यह किसी वेबसाइट के डोमेन नाम के अंत में लगता है। और यह SEO Friendly  होता है और गूगल टॉप लेवल डोमेन को प्राथमिकता देता है जिससे आपके वेबसाइट का रैंक जल्दी होता है और  गूगल ऐडसेंस अप्रूवल  जल्दी से मिल जाता है और आप आप पैसे कमाना भी जल्दी स्टार्ट कर सकते है।

टॉप लेबल डोमेन एक्सटेंशन के उदाहरण-

  • .com- यह एक स्वतंत्र  डोमेन है जिसे कोई भी व्यक्ति या संस्था रजिस्टर कर सकता है
  • .org- इस एक्सटेंशन का उपयोग मूल रूप से  संगठन व संस्थाएं करते हैं।
  • .net- इसे ज्यादातर इंटरनेट नेटवर्क के रूप में उपयोग किया जाता है।
  • .gov- इस एक्सटेंशन  का उपयोग ज्यादातर सरकारी वेबसाइटों में किया जाता है।
  • .edu-इसका उपयोग एजुकेशन के क्षेत्र में किया जाता है- जैसे स्कूल कॉलेज  यूनिवर्सिटी आदि|
  • .info- इस एक्सटेंशन का प्रयोग ज्यादातर इंफॉर्मेशन शेयर करने वाले करते हैं।
  • .biz- इस एक्सटेंशन का प्रयोग  बिजनेस के लिए किया जाता है।

  • cctld(country code top level domain)- यह डोमेन नाम प्रणाली  सभी देश के लिए अलग-अलग होता है और यह सिर्फ 2 अंक का होता है आप उदाहरण में देख सकते हैं-

  • .af- Afgan
  • .au- australia
  • .in- india
  • .ch- china
  • .za- south africa

डोमेन नाम के हिस्से(parts of domain name)-

एक डोमेन नाम  ज्यादातर दो हिस्सों में होता है जिसे  डॉट  के द्वारा अलग किया जाता है।

 जैसे- workhindi.com (workhindi के बाद डॉट है और फिर com है) 

सब-डोमेन नाम क्या होता है(what is subdomain name)-

 सबडोमेन नाम डोमेन नाम का हिस्सा होता है। और कोई भी डोमेन नाम खरीदने के बाद आप फ्री में सब डोमेन नाम क्रिएट कर सकते हैं। जैसे-

  1. Maps.google.com
  2. hi.wikipedia.org

यहां पर Maps और hi subdomain name है।

डोमेन नाम और यूआरएल में क्या अंतर होता है (domain & url diffrence)-

आप तो जानते ही होंगे कि डोमेन नाम किसी ब्लॉग या वेबसाइट का नाम होता है जिसके द्वारा वहां पहचाना जाता है| लेकिन url को हम एड्रेस भी कह सकते हैं क्योंकि यूआरएल में भी डोमेन नाम होता है।

URL- URL का पूरा नाम- यूनिफ़ॉर्म रिसोर्स लोकेटर होता है।| URL आपके ब्राउज़र को आदेश देता है कि किसी विशिष्ट प्रोटोकॉल, सर्वर और फाइल का प्रयोग करके उसे कहाँ जाना है,क्या दिखाना है

URL में सबसे पहले  प्रोटोकॉल –HTTP, HTTPS या FTP होता है फिर एक  कोलोन और दो श्लेष उसके बाद नाम और अंत में एक्सटेंशन होता है| उसके बाद विशिष्ट पेज या पोस्ट हो सकता है।

अर्थात यूआरएल एक पूर्ण वेब पता होता है जिसके द्वारा विशिष्ट पेज को ढूंढा जाता है।

 टॉप डोमेन नाम सर्विस प्रोवाइडर कंपनी की लिस्ट-

  • Domain.google
  • Godaddy
  • Bigrock
  • Namecheap
  • Resellerclub
  • Hostinger
  • Bluehost

डोमेन नाम कैसे बनाएं- कुछ इम्पोर्टेन्ट बातें-

  • डोमेन नाम हमेशा सिंपल हो 
  • कम कैरेक्टर का हो
  • याद रखने,बोलने और लिखने में आसान हो
  • किसी दूसरे डोमेन नाम से मिलता-जुलता ना हो।
  • यूनिक हो,जिसे आप आसानी से अपना ब्रांड बना सकें
  • डोमेन नाम में नंबर और सिंबल रखने से बचें।
  • हमेशा tld  टॉप लेवल डोमेन ही सेलेक्ट करने की कोशिश करें
  • डोमेन नाम  आप के नीच से मिलता-जुलता हो ।

अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए डोमेन नाम कैसे ढूंढे

नया ब्लॉग कौन से टॉपिक पर बनाएं- 75+ blogging topics in hindi

डोमेन नाम buy कैसे करते हैं या जानने के लिए आप हमारे ब्लॉग blogging tips menu पर पढ़ सकते हैं।

दोस्तों इस पोस्ट में हमने जाना कि डोमेन नाम क्या होता है(domain meaning in hindi) और डोमेन के प्रकार क्या-क्या है सब-डोमेन क्या होते हैं और डोमेन से संबंधित और बहुत सी जानकारियां हमने आपको इस पोस्ट में शेयर किया है और जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और सोशल मीडिया फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप आदि पर जरूर शेयर करें।

और फिर भी आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमें जरूर बताएं हम उस प्रश्न का जवाब आपको जरूर देंगे।

यह भी पढ़ें-

फ्री में ब्लॉग कैसे बनायें | how to make blog in hindi-2020

यह भी पढ़ें-

yoast seo से 100% green post कैसे लिखें

होस्टिंग कैसे खरीदें

वेब होस्टिंग क्या होता है 

blogspot ब्लॉग में custom डोमेन add कैसे करें 

डोमेन नाम कैसे खरीदें

फ्री में ब्लॉग कैसे बनायें

new ब्लॉग कौन से टॉपिक पर बनायें

कॉल आने पर video चलने वाला सेटिंग कैसे करें


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *