वेब hosting क्या होता है, hosting के प्रकार आपके लिए बेस्ट hosting कौन सा है

Published by Deependra Kashyap on

web hosting kya hai apko koun sa hosting use karna chahiye

आज के इस पोस्ट में हम hosting से जुड़े वेब hosting क्या होता है, hosting के प्रकार आपके लिए बेस्ट hosting कौन सा है a to z जानकारी आज के इस पोस्ट में जानेंगे तो आप इस पोस्ट को पूरा पढें |इन्टरनेट की इस दुनिया में हम चारों तरफ से data से घिरे हुए है तो ऐसे में कोई तो होगा जो इतने सरे data को serve कर रहा होगा लेकिन एक बात तो तय है की इतने सरे data को इन्सान तो serve नहीं कर सकता है |

 

दोस्तों इस दुनिया में कई जगह पर बहुत बहुत बड़ी मशीनें बनाई गयी है जो इस data को store अर्थात serve करती है और उसे ही वेब server कहा जाता है |

या सिंपल शब्द में कहे तो जैसे हम इन्टरनेट पर कोई नही चीज़ search करते है तो हमारे सामने बहुत सरे रिजल्ट आ जाते है जिसमे-text, video, image, documents आदि होते है तो in data को जहाँ पर store किया जाता है यूज़ ही वेब server कहते है, और यहाँ पर 24 hours इन्टरनेट और सिस्टम ऑन रहता है|

server भी कई तरह के होते है

simple data base server

communication server

application sarver

file server

domain name ragister (buy) कैसे करें-2020

वेब hosting क्या होता है

आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे की वेब hosting क्या होता है और यह website के लिए क्यों जरुरी होता है|सबसे पहले मैं आपको बता दूँ की एक website को रन करने के लिए एक domain name और वेब hosting की जरुरत पड़ता है और आपको हमने अपने पहले वाले पोस्ट में आपको बता दिया है की domain name क्या होता है इसकी जरुरत कहाँ पड़ता है और कैसे buy कैसे कर सकतें है

जब हम कोई भी वेबसाइट बनाते हैं तो उस पर जाहिर सी बात है कंटेंट जैसे image, video, audio, text फाइल आदि अपलोड करेंगे तो फाइल को स्टोर करने के लिए हमें एक स्पेस की जरूरत पड़ती है जिसे वेब होस्टिंग या सर्वर कहते हैं।

सर्वर हम घर पर भी बना सकते हैं लेकिन यह बहुत कॉस्टली( महंगा) होता है इसके लिए हमें 24 Hours लाइट और इंटरनेट की जरूरत होगी लेकिन यह संभव नहीं है क्योंकि अगर 1 मिनट भी लाइट ऑफ या इंटरनेट डाउन होता है तो हमारा सर्वर डाउन हो जाएगा इसलिए हम अलग-अलग कंपनियों से जहां पर इंटरनेट और लाइटिंग सुविधा 24 Hours मिलता रहता है वहां से हम hosting किराए पर लेकर यूज कर सकते हैं जो हमें लो प्राइस(कम कीमत) पर मिल जाता है।

 

होस्टिंग के प्रकार

शेयर होस्टिंग-   यह नाम से है पता चल रहा है शेयर होस्टिंग अर्थात साझा करना| इस सर्वर में बहुत सारे वेबसाइट को एक साथ स्टोर किया जाता है|

उदाहरण- मान लीजिए आप घर से बाहर पढ़ने या कोचिंग करने के लिए जाते हैं तो आप किसी बिल्डिंग में रूम किराया लेते हैं और उस रूम में आपके साथ कई और भी स्टूडेंट रहते हैं अर्थात आप उन स्टूडेंट के साथ भी अपना रूम शेयर करते हैं और सभी को मिलाकर कम पैसे भी देने होते है |

अर्थात ऐसा ही काम शेयर होस्टिंग में भी होता है|

शेयर होस्टिंग का प्रयोग किसे करना चाहिए

अगर आप न्यू ब्लॉग/website स्टार्ट करना चाहते हैं या ब्लॉगिंग के क्षेत्र में आप नए हैं तो आप शुरुआत में शेयर होस्टिंग  का प्रयोग कर सकते हैं क्योंकि शुरुआत में आपके पास ज्यादा ट्रैफिक भी नहीं होता है और यह अन्य hosting पर की तुलना में सस्ता भी होता है|

 शेयर होस्टिंग के  लाभ-

बिगिनर्स के लिए यह बढ़िया होस्टिंग है इसे आसानी से सेटअप कर सकते हैं

इसकी कीमत भी कम होती है इसलिए इसे आसानी से खरीद सकते हैं

इसका कंट्रोल पैनल यूजर फ्रेंडली होता है

शेयर होस्टिंग के नुकसान-

जिस तरह एक रूम में कई स्टूडेंट रहते है उसी तरह शेयर  होस्टिंग पर एक साथ कई वेबसाइट रन करते हैं अगर किसी भी एक वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक आ जाए तो अन्य वेबसाइट डाउन हो जाती है

इसका  सिक्योरिटी थोड़ा कमजोर होता है

इसमें शेयर होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनियां ज्यादा सपोर्ट प्रदान नहीं करते हैं

VPS होस्टिंग- इसमें एक सर्वर को कई अलग-अलग हिस्सों में बांटा जाता है लेकिन यहां एक ही सर्वर के जैसा आभास होता है |

उदाहरण-  एक होटल में 5 कमरे हैं लेकिन उनमें से कोई भी एक कमरा आपका है और उसे आपको किसी और के साथ शेयर नहीं करना पड़ेगा| यही काम vps होस्टिंग में भी होता है|

 vps होस्टिंग का प्रयोग किसे करना चाहिए-

इसका प्रयोग new बिगिनर्स blogger भी कर सकते है या यदि आप शेयर hosting का यूज़ करते है और उस hosting में आपको कुछ भी प्रॉब्लम आ रहा है तो आप vps hosting पर शिफ्ट हो सकते है |

 vps होस्टिंग के लाभ-

यह शेयर होस्टिंग की तुलना में बेहतर होता है

यह बढ़िया privacy और सिक्योरिटी प्रदान करता है

इसमें आपको डेडीकेटेड होस्टिंग के जैसे ही  फूल कंट्रोल मिलता है

इसमें आपको 24×7  hours कस्टमर सपोर्ट मिलता है

 vps होस्टिंग के नुकसान-

यह शेयर होस्टिंग से थोड़ा महंगा होता है लेकिन  शेयर होस्टिंग की तुलना में बेहतर भी होता है|

इसमें डेडिकेटेड होस्टिंग की तुलना में कम रिसोर्सेज होता है|

Dedicated hosting- इस hosting में सम्पूर्ण server आपको ही दे दिया जाता है और स्वतंत्र रूप से इसमें आप अपने सभी website को add कर सकते है | और यह शेयर्ड hosting और vps hosting से अत्यधिक महंगा होता है |

उदाहरण- मान लीजिये एक बंगला है और उस पर सम्पूर्ण रूप से आपका ही हक है आप स्वतंत्र होकर कुछ भी कर सकते है और सुविधा भी बढ़िया है इसलिए खर्च भी ज्यादा होगा|

dedicated hosting का प्रयोग किसे करना चाहिए-

यदि आपके ब्लॉग में मिलियन में या बहुत ज्यादा ट्रैफिक आ रहा है जिसे vps server कण्ट्रोल नहीं कर पा रहा है तो आप dedicated hosting को यूज़ कर सकते है|

Dedicated hosting के लाभ-

इसमें आपको शेयर्ड hosting और vps hosting से जायदा features और secyority मिलता है |

इसमें client को full root(administrative access) प्रदान किया जाता है

यह बाकि hosting की तुलना में ज्यादा stable होता है

Dedicated hosting के नुक्सान

यह अन्य hosting की तुलना में ज्यादा महंगा होता है लेकिन आपको features और security भी ज्यादा मिलता है |

WordPress hosting- यह होस्टिंग शेयर होस्टिंग के ही जैसे होता है लेकिन इसमें आपको शेयर होस्टिंग से कुछ एक्स्ट्रा फीचर्स मिल जाते हैं और यह wordpress sites यूजर के लिए बेहतर होता है और यह wordpress साइट के लिए ही configure किया जाता है यहाँ पर आपको website के security, chaching, SEO आदि के लिए plugin मिल जाते है और आपको बढ़िया सपोर्ट भी मिलता है|

wordpress hosting के लाभ-

इस hosting पर आपको अपने ब्लॉग/website की security को कुछ plugin के द्वारा secure कर सकते है|

इस hosting पर आपके ब्लॉग/वेबसाइट की speed अच्छी मिलती है|

आपको wordpress hosting में बहुत सारे फ्री themes मिल जाते है|

आपका server हमेशा updated रहता है|

wordpress hosting के नुकसान-

यह hosting shared hosting और vps hosting से ज्यादा महंगा होता है|

डोमेन नाम क्या होता है(what is domain name meaning in hindi)

cloud hosting- यह एक latest hosting है और लोकप्रिय भी है| इसमें कई सर्वर मिलकर एक बड़े सर्वर का निर्माण करते है अर्थात यहां पर बहुत सारे सर्वर का चैन बना दिया जाता है अगर कोई एक सर्वर भी क्रेश हो जाता है तो इससे आपके वेबसाइट पर इफेक्ट नहीं पड़ता है बाकी सर्वर उसे मेंटेनेंस कर लेते हैं| अर्थात यह आपके website के लोड को maintance करके रखता है यहाँ पर downtime न के बराबर होता है|

और क्लाउड होस्टिंग में आप जितना सुविधा यूज करेंगे आपको उतने ही पैसे देने होंगे ( जैसे आप घर में जितना परसेंट विद्युत यूज करते हैं उसी के हिसाब से आपको इलेक्ट्रिसिटी बिल देना पड़ता है)|

Cloud hosting के लाभ-

आपको cloud hosting में अन्य hosting की तुलना में बेहतर speed मिलता है

आपको यहाँ पर security भी बहुत बढ़िया मिलता है

आपको बेहतर परफॉरमेंस भी मिलता है

यहाँ पर daily बैकअप और recover का आप्शन आपको मिलता है

cloud hosting के नुकसान-

यह अन्य सभी hosting की तुलना में महंगा होता है

लाइनेक्स होस्टिंग vs विंडो होस्टिंग

विंडो होस्टिंग अगर आप अपने वेबसाइट को .net  या asp पर बना रहे हैं तो आपको विंडो की होस्टिंग लेनी चाहिए लेकिन यह लाइनेक्स होस्टिंग से मांहगा होता है क्योंकि विंडोस होस्टिंग में आपको लाइसेंस बाई करना होता है

(जब आप विंडोज होस्टिंग बाई करते हैं तो उसी के साथ लाइसेंस का भी प्राइस जोड़कर आपको शो करता है)

लाइनेक्स होस्टिंग यह एक ओपन सोर्स oprating सिस्टम है और इस होस्टिंग में आपको विंडो होस्टिंग की तुलना में बहुत कम पैसे देने होते हैं इसलिए ज्यादातर यूजर्स लाइनेक्स होस्टिंग  ही यूज करते हैं। क्योंकि इसमें आप वर्डप्रेस जुमला पाइथन आदि को आसानी से सेटअप कार यूज यूज कर सकते हैं।

आपको लिनेक्स hosting की तुलना में windows hosting में आप ज्यादा सिक्योर रहते है |

दोस्तों मैं आपसे उम्मीद करता हूँ की वेब hosting क्या होता है इसके नुकसान और फायदे यह जानकारी आपको अच्छा लगा होगा, जानकारी अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें और आपका हमारे ब्लॉग work hindi.com पर पोस्ट पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद!!!

आप इन सभी post को भी पढ़ सकते है-

नया ब्लॉग कौन से टॉपिक पर बनाएं- 75+ blogging topics in hindi

blogspot blog में custom domain add कैसे करें

 


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *